Career In Film Production # 1 फिल्म प्रॉडक्शन और फिल्म मेकिंग



दोस्तो फिल्म प्रॉडक्शन और फिल्म मेकिंग 



दोस्तो फिल्म प्रॉडक्शन और फिल्म मेकिंग दोनों को मै अलग अलग मानता हूँ मुझे लगता है की जब हम बात करते है की फिल्म मेकिंग तो उसका मतलब आपका द्रष्टिकोण और क्रीएटिविटि को पेश करना है जिसमे भावनाओ और चरित्र को दिखने का प्रयास होता है और जब फिल्म प्रॉडक्शन की बात करू तो उसका मतलब मुझे लगता है की जब हम टेक्नोलोजी और गेजेट के कुशलता को दिखने का प्रयास करते है तो उसको में फिल्म प्रॉडक्शन मानता हूँ। 


अब आप देखे कई सौ फिल्मे हर साल बनती है और गिनी चुनी 5 – 10 फिल्मे ही पसंद की जाती है बाकी सबको मे फिल्म बिज़नस मे प्रॉडक्शन का हिस्सा ही मानता हूँ। मेरी बात मेरा मानना है आप अपनी राय रखने के लिए आज़ाद है पर एक फिल्म मेकर मै उसे मानता हूँ जो फिल्म मेकिंग से मोहब्बत करता है जिसे फिल्म बनाने से प्रेम है वो अपनी खुशी के लिए फिल्म बनाता है और बनाकर खुश होता है। फिल्म चले या न चले उसको कोई फर्क नहीं पड़ता। बिज़नस को वो फिल्म मेकिंग से अलग रखता है जबकि उसका बिज़नस फिल्म मेकिंग ही है ये उसको पता है। 


जब बिलकुल नए लोग फिल्म प्रॉडक्शन या फिल्म मेकिंग की बात करते है तो उनके सामने सबसे बड़ी समस्या ये होती है की शुरुआत कान्हा से की जाये और कैसे की जाये? और इसके लिए उनको कोई  सही रास्ता या तरीका नहीं समझ आता जबकि आज के समय मे यूट्यूब और सोश्ल मीडिया एक बेहतरीन विकल्प है फिर भी फिल्म बनाने के लिए नॉलेज तो होनी जरूरी है और जब फिल्म मेकिंग की बात करे तो एक लिने मै कहूँगा फिल्म मेकिंग नॉलेज की बात है पैसो से अगर फिल्म बन जाती तो सभी अमीर फिल्म प्रोड्यूसर बन जाते। फिल्म एक क्रीएटिविटि की बात है उसके लिए अपने से ज्यादा दूसरे को समझने की समझ और दूसरे के अंदर देखने की तीव्र महत्वकनशा का होना जरूरी है। 


मेरा मानना है की एक सफल फिल्म मेकर बनने के लिए आपको कुछ बातो को समझ लेना चाहिए जो की इस तरह काही जा सकती है:


बहाने बनाने की जगह, फिल्म बिज़नस को समझने के लिए अनुभव लेने का साहस रखना। 


कलाकार की प्रतिभा को पैसो मे बदलने का हुनर जान लेना। 


अपने वादे से न मुकरना और अपनी वितीए छवि को हमेशा हमेशा ईमानदारी से बनाना। 

 
फिल्म प्रॉडक्शन की टेक्नोलोजी और अनुभव मे अपडेट रहना। 


रातो रात अमीर बनने के सपने देखने की जगह अपना पूरा रास्ता चलकर मंजिल तक पोहचना।   


मेरा मानना है की अगर आप इन चार बातों को समझ ले तो आप सिनेमा और फिल्म बिज़नस को बेहतर समझ लेंगे और कभी भी अपना या किसी दूसरे का नुकसान नहीं करेंगे और ये अपने आप होगा आपको सिर्फ ईमानदारी से कोशिश करनी होगी। और अपनी नजर मंजिल पे रखनी होगी नाकी परेशानी पे। 
मंजिल देखने से मंजिल और परेशानी देखने से परेशानी दिखेगी और देखना आपने है। 

फिल्म मेकिंग की जानकारी के लिए विडियो देखे:

Career In Film Production # 1